सत्य प्रेम के जो हैं रूप उन्हीं से छाँव.. उन्हीं से धुप. Powered by Blogger.
RSS

फ़रिश्ते रंग बरसाते हैं मौसम रक्स करता है
जब उडते बादलों में हम तेरे तस्वीर बनाते हैं ......

  • Digg
  • Del.icio.us
  • StumbleUpon
  • Reddit
  • RSS

0 comments:

Post a Comment