सत्य प्रेम के जो हैं रूप उन्हीं से छाँव.. उन्हीं से धुप. Powered by Blogger.
RSS

मुबारक जन्मदिन....!!

मंगल गीत गाएं चाँद सितारे
जन्मदिन तेरी सब हैं मनाए
महकी हवा है बहकी फिज़ा है
चाँदनी से नहाया अद्भुत समा है
रुत  ये हसीं है रात भी जवां है
तेरी ख़ुशी में संग ये जहां है
देख तुझे मैं मंद मंद मुस्काऊँ
किस्मत पे अपनी मैं इतराऊँ
दुआओं में अपने हाथों को उठाऊँ
तेरे लिए हर ख़ुशियाँ रब से मैं मांगू
हँसता रहे तू मुस्कुराता रहे
सपनों को अपनी पूरा करता रहे
कोई दुःख तेरे पास न आये
आना हो तो मुझपे आ जाये
जीवन में हर सुख तू पाए
जन्मदिन तेरी हर साल आये
मंगल गीत चाँद तारें गायें
तेरे चरणों में रहूँ पड़ी मैं
उम्र मेरी यूँही बीत जाएँ
पिया तेरे साये में रहूँ मैं
मेरी उम्र भी तुझे लग जाये
जन्मदिन मुबारक तुझे सनम
दूँ मैं दिल से तुम्हें बधाई...!!!

  • Digg
  • Del.icio.us
  • StumbleUpon
  • Reddit
  • RSS

2 comments:

Deepika Shukla said...

बहुत ही सुंदर जन्मदिन की बधाई कुछ शब्दों में।😊

निभा चौधरी said...

शुक्रिया....!!! :)

Post a Comment